महीने में 7 दिन बाहर खाना खा रहे भारतीय, खाना ऑर्डर करने वाली 86% पत्नियां हैं

 

  • नेशनल रेस्टाेरेंट एसोसिएशन ऑफ इंडिया के सर्वे में 3% लोग रोज बाहर का खाना खाते हैं
  • पति-पत्नी साथ जाएं तो 86% मामलों में खाने का ऑर्डर पत्नी ही देती है

नई दिल्ली (मुकेश कौशिक).  बदलते आर्थिक हालात के साथ नया भारत भी बदल रहा है। लोगों के पास घर में खाना बनाने का समय नहीं है। यही वजह है कि लोग या तो महीने में सात दिन बाहर खाना खाने जाते हैं, या घर बैठे मोबाइल पर अपनी पसंद का खाना ऑर्डर कर रहे हैं। खर्च करने लायक पैसा होने के कारण ग्राहक महीने में औसतन 2500 रुपए बाहर के खाने पर खर्च करते हैं। इसके लिए वे 7 बार रेस्तरां या कैफे जाते हैं।

नेशनल रेस्टोरेंट एसोसिएशन आॅफ इंडिया द्वारा 24 शहरों में कराए गए सर्वे में भारतीयों के खानपान का ये अंदाज सामने आया है। बाहर खाने वालों की प्राथमिकता इनकम बढ़ने का सीधा नतीजा है। सर्वे के मुताबिक, 3% भारतीय रोज बाहर का खाना खाते हैं, जबकि 44% महीने में दो से तीन बार बाहर जाते हैं। 27% ऐसे भी हैं, जो हर सप्ताह बाहर का खाना खाते हैं।

लोग अब बाहर के बजाय घर में खाना पसंद कर रहे 

  • इस मामले में 37% महिलाएं और 63% पुरुष होते हैं। बाहर का खाना खाने के लिए अब घर से बाहर जाने की भी जरूरत खत्म हो गई है। स्विगी और जोमेटो जैसी कंपनियों ने जबर्दस्त कमाई की है। जोमेटो ने हर महीने 2 करोड़ दस लाख आॅर्डर मिलने का दावा किया है।
  • स्विगी का कहना है कि उसे हर महीने 2 करोड़ ऑर्डर मिल रहे हैं। हर ऑर्डर औसतन 300 रुपए का होता है। 90% लाेग बाहर खाने का भुगतान कैश में करते हैं, जबकि 10% मील वाउचर, क्रेडिट या डेबिट कार्ड, मोबाइल वॉलेट से पेमेंट करते हैं। 75% लोग बाहर खाने खुद जाना पसंद करते हैं, जबकि 11% फूड डिलीवरी का आॅर्डर करते हैं। 14% लोग खाना साथ ले जाते हैं। सर्वे में 130 रेस्टारेंट के सीईओ और 3500 ग्राहकों से बात की गई थी।

बच्चे साथ हों तो ऑर्डर करने में 78% उन्हीं की चलती है :

सर्वे में बाहर खाना खाने वालों में यह भी देखा गया कि ऑर्डर कौन करता है। पति-पत्नी साथ जाएं तो 86% मामलों में खाने का आॅर्डर पत्नी ही करती है। परिवार साथ हो तो 78% बच्चों की चलती है। दोस्त खाने जाएं तो बिल देने वालों की चलती है। दिन के हिसाब से भी बाहर के खाने का मूड बदलता है। सोमवार को 9% लोग बाहर खाते हैं तो रविवार को 42%।

(राष्ट्रीय संभव सन्देश के व्हाट्सएप ग्रुप में ऐड होने के लिए Click यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, और यूट्यूब पर फ़ाॅलो भी कर सकते हैं.)

WhatsApp chat