Breaking News

राज्यों के हिसाब से समझें कहां कोरोना संकट कितना गहरा, इन 5 स्टेट्स में 70 फीसदी एक्टिव मामले

नई दिल्ली: देश के 10 राज्यों- महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, केरल, तमिलनाडु, मध्य प्रदेश, गुजरात और राजस्थान में कोरोना वायरस के रोजाना के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हुई है और कुल दैनिक मामलों के 83.02 प्रतिशत मामले इन्हीं राज्यों में ही सामने आए हैं. भारत में कोरोना वायरस के दैनिक मामले लगातार बढ़ रहे हैं और पिछले 24 घंटे में संक्रमण के अब तक के सर्वाधिक 1,68,912 मामले सामने आए हैं. महाराष्ट्र में सर्वाधिक 63,294 दैनिक मामले सामने आए है. इसके बाद उत्तर प्रदेश में 15,276 और दिल्ली में 10,774 नए मामले आए हैं. महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, दिल्ली, तमिलनाडु, मध्य प्रदेश, गुजरात, हरियाणा, राजस्थान, पंजाब, केरल, तेलंगाना, उत्तराखंड, आंध्र प्रदेश और पश्चिम बंगाल में नए मामलों की संख्या लगातार बढ़ रही है. भारत में उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर 12,01,009 हो गई है, जो संक्रमण के कुल मामलों का 8.88 प्रतिशत है. देश में एक दिन में उपचाराधीन लोगों की संख्या में 92,922 मामलों की बढ़ोतरी हुई.

देश के कुल उपचाराधीन मामलों के 70.16 प्रतिशत मामले महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, कर्नाटक, उत्तर प्रदेश और केरल में हैं. कुल एक्टिव केसेज के 47.22 प्रतिशत केवल महाराष्ट्र में हैं. भारत में संक्रमित होने के बाद अब तक 1,21,56,529 मरीज ठीक हो चुके हैं और पिछले 24 घंटों में 75,086 लोग स्वस्थ हुए हैं. इसके अलावा, दैनिक मृतक संख्या भी लगातार बढ़ रही है और पिछले 24 घंटे में 904 लोगों की इस बीमारी से मौत हो गई. कुल मृतक संख्या में से मौत के 89.16 प्रतिशत मामले 10 राज्यों में सामने आए. महाराष्ट्र में सर्वाधिक लोगों (349) की मौत इस वायरस से हुई. इसके बाद छत्तीसगढ़ में 122 लोगों की मौत हुई.

पिछले 24 घंटे में नौ राज्यों एवं केंद्रशासित प्रदेशों- ओडिशा, हिमाचल प्रदेश, लद्दाख, दमन एवं दीव, दादरा एवं नागर हवेली, मेघालय, सिक्किम, लक्षद्वीप, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह और अरुणाचल प्रदेश में संक्रमण से कोई मौत नहीं हुई. देशव्यापी ‘टीका उत्सव’ के दूसरे दिन सोमवार तक भारत में कोविड-19 टीके की 10.45 करोड़ खुराक दी चुकी हैं. मंत्रालय ने बताया कि सुबह सात बजे तक की प्रारंभिक रिपोर्ट के अनुसार, देश में 15,56,361 सत्रों में टीके की 10,45,28,565 खुराक दी जा चुकी है. इनमें 90,13,289 स्वास्थ्यसेवा कर्मियों को पहली खुराक और 55,24,344 स्वास्थ्य सेवा कर्मियों को दूसरी खुराक दी गई है.