गुरुवार की रात को एक हमलावर ने डिलीवरी सर्विस देने वाली कंपनी फेडएक्स के इंडियानापोलिस के परिसर में गोलीबारी कर दी थी, जिसमें कुल आठ लोगों की मौत हो गई थी. विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि भारत इस घटना में वहां के स्थानीय प्रशासन और नेताओं को हरसंभव मदद देगा. नई दिल्ली: अमेरिका के इंडियानापोलिस में गुरुवार की रात हुई गोलीबारी की घटना में आठ मृतकों में 4 सिखों की भी मौत हुई है. इस घटना से हैरान विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि भारत इस घटना में वहां के स्थानीय प्रशासन और नेताओं को हरसंभव मदद देगा. इस घटना में गुरुवार की रात को एक हमलावर ने डिलीवरी सर्विस देने वाली कंपनी फेडएक्स के परिसर में गोलीबारी कर दी थी, जिसमें कुल आठ लोगों की मौत हो गई थी.

जानकारी है कि कंपनी की इस फैसिलिटी में लगभग 90 फीसदी कर्मचारी भारतीय-अमेरिकी हैं, जिनमें ज्यादातर सिख समुदाय के लोग हैं. AP की रिपोर्ट के मुताबिक, इंडियानापोलिस में यह इस साल की गोलीबारी की तीसरी घटना है. शुक्रवार देर रात, मेरियन काउंटी कोरोनर कार्यालय और इंडियानापोलिस मेट्रोपोलिटन पुलिस विभाग (आईएमपीडी) ने मृतकों के नाम का खुलासा किया. मृतकों में अमरजीत जोहल (66), जसविंदर कौर (64), अमरजीत (48) और जसविंदर सिंह (68) शामिल हैं. आईएमपीडी ने कहा कि सिख समुदाय के एक अन्य व्यक्ति हरप्रीत सिंह गिल (45) को आंख के पास गोली लगी और अभी वह अस्पताल में है. वहीं, बंदूकधारी हमलावर की पहचान इंडियाना के 19 वर्षीय ब्रेंडन स्कॉट होल के रूप में की गई है, जिसने गोलीबारी करने के बाद कथित तौर पर खुद को गोली मार ली थी.

विदेश मंत्री ने शनिवार को ट्वीट कर कहा कि ‘इंंडियानापोलिस की फेडएक्स फैसिलिटी में शूटिंग से हैरान हूं. मारे गए लोगों में भारतीय-अमेरिकी सिख समुदाय के लोग भी शामिल हैं. शिकागो में हमारे कॉन्सुलेट जनरल इंडियानापोलिस के मेयर और लोकल अथॉरिटी के संपर्क में हैं. हम प्रभावितों की हरसंभव मदद करेंगे.’ पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी घटना पर दुख जताते हुए पीड़ित परिवारों के लिए सांत्वना व्यक्त किया. सिख समुदाय के नेता गुरिंदर सिंह खालसा ने फेडएक्स परिसर के कर्मचारियों के परिजनों से मुलाकात करने के बाद फोन पर भाषा से कहा, ‘यह बेहद दुखद है. इस त्रासद घटना से सिख समुदाय आहत है.’ अमेरिकी राष्ट्रपति ने इस घटना को उनके देश के लिए शर्मिंदगी का विषय बताया और घोषणा की कि 20 अप्रैल तक पूरे देश में अमेरिकी झंडे को आधा फहराकर शोक मनाया जाएगा.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *