आज गंगा मंच पर साबिर की थाप और सुनील के सुरों का संगम, होंगे अक्षयवट के दर्शन

4,394 total views, 1 views today

 

  • अंतिम शाही स्नान के दौरान देर शाम तक श्रद्धालुओं ने लगाई डुबकी
  • मेला परिसर में सांस्कृतिक कार्यक्रमों के आयोजन का दौर आज भी रहेगा जारी
  • दावा: मकर संक्रांति से लेकर वसंत पंचमी तक 16 करोड़ श्रद्धालुओं ने लगाई संगम में डुबकी

प्रयागराज. तीर्थराज प्रयाग में लगे आस्था के सबसे बडे मेले कुंभ में मंगलवार को श्रद्धालु किला स्थित मूल अक्षय वट के दर्शन कर सकेंगे। वहीं, गंगा मंच पर तबला वादक साबिर खान और गायक सुनील कुलकर्णी अपनी प्रस्तुति देंगे। यहां बड़े धार्मिक और सांस्कृतिक कार्यक्रमों के आयोजन का दौर जारी है। सेवा और संस्कार की सीख लेने के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ रही है। कहीं रामकथा तो कहीं लीलाओं का मंचन हो रहा है। इन कथाओं को सुनन के लिए श्रद्धालुओं की भारी भीड़ संतों के शिविरों में पहुंच रही है। इस बीच बिहार के राज्यपाल लालजी टंडन दो दिवसीय दौरे पर कल प्रयागराज पहुंचेंगे। इस दौरान वह जूना अखाड़े महामंडलेश्वर समेत कई संतों से मुलाकात करेंगे।

कुंभ के अंतिम शाही स्नान पर्व वसंत पंचमी के लिए प्रयागराज की सड़कों पर आस्था का सैलाब उमड़ पड़ा। वसंत पंचमी को प्रयागराज कुंभ के तीसरे शाही स्नान के दिन बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने संगम में डुबकी लगाई।कुंभ के तीसरे शाही स्नान के दिन आठ किमी क्षेत्र में फैले 41 घाटों पर श्रद्धालु सुबह से ही उमड़ते रहे। इस बीच हर हर गंगे और हर हर महादेव के स्वर गूंजते रहे। अंतिम शाही स्नान पर्व पर तिथिकाल में यह आंकड़ा दो करोड़ को भी पार कर गया था।

वसंत पंचमी पर स्नानार्थियों की भीड़ को देखते अक्षयवट दर्शन के लिए नहीं खुला। प्रयागराज मेला प्राधिकरण ने शनिवार, रविवार और सोमवार को अक्षयवट दर्शन बंद रखने का निर्णय ले रखा है। 12 फरवरी से तय समय के मुताबिक किला स्थित मूल अक्षयवट के दर्शन श्रद्धालु कर सकेंगे। फिलहाल आज अक्षयवट दर्शन के इच्छुक लोग मायूस दिखे।

बिहार के राज्यपाल लालजी टंडन मंगलवार को प्रयाग पहुंचेंगे। वह यहां विशेष विमान से शाम को लगभग चार बजे बमरौली एयरपोर्ट पहुंचेंगे। वह कुंभ पहुंचकर परमार्थ निकेतन के महंत श्री चिदानंद मुनी जी से मुलाकात करेंगे। इसके बाद वह रात्रि में जूना अखाड़े के महामंडलेश्वर स्वामी अवधेशानंद गिरी से मुलाकात करेंगे। अगले दिन 13 फरवरी को लालजी टंडन निश्चलानंद से भेंट करेंगे और शाम को कुंभ क्षेत्र में बने समागम कक्ष में सेवा ऋषि भाउ राव देवरस कार्यकम में मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल होंगे। इसके बाद शाम को वह बिहार के लिए रवाना हो जाएंगे।

आज होने वाले विशेष आयोजन:

मेला क्षेत्र के सेक्टर 14 में ब्रजेश पाठक की राम कथा, भरतनाट्टयम प्रतिभा प्रहलाद प्रभु प्रेमी संघ शिविर में शाम को प्रस्तुत करेंगे। वैष्णव कुलभूषण द्वाराचार्य मलूकपीठाधीश्वर राजेंद्र दास द्वारा वाल्मीकि रामायण कथा श्रीगुरुकार्ष्णि कुंभ मेला शिविर सलोरी स्थित सेक्टर सात में 11 से 19 फरवरी तक चलेगा। गंगा मंच सेक्टर एक पर तबला वादक साबिर खान और सुनील कुलकर्णी द्वारा हिंदुस्तानी गायन की प्रस्तुति दी जाएगी।

Loading...