विदेश में पांचवीं बार 4-1 से सीरीज जीता भारत, न्यूजीलैंड को 35 रन से हराया; स्कोरकार्ड देखें

 

  • केदार जाधव ने वनडे करियर के 1000 रन पूरे किए, मैच में 34 रन बनाए
  • ट्रेंट बोल्ट ने इस सीरीज में सबसे ज्यादा 12 विकेट लिए
  • अंबाती रायडू ने 90 रन की पारी खेली, मैन ऑफ द मैच चुने गए

भारतीय टीम ने न्यूजीलैंड को पांच मैचों की वनडे सीरीज के आखिरी मुकाबले में 35 रन से हरा दिया। इसी के साथ भारत ने यह सीरीज 4-1 से अपने नाम कर ली। युजवेंद्र चहल ने 3 और मोहम्मद शमी ने 2 विकेट लिए। भारत की ओर से मैच में सबसे ज्यादा अंबाती रायडू ने 90 रन बनाए। इसके लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच भी चुना गया। ऑलराउंडर विजय शंकर और हार्दिक पंड्या ने 45-45 रन की पारी खेली। भारत ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए न्यूजीलैंड को 253 रन का लक्ष्य दिया था। कीवी टीम 217 रन पर ऑलआउट हो गई।

भारतीय टीम ने एशिया के बाहर टेस्ट खेलने वाले देशों में पहली बार 4-1 के अंतर से सीरीज जीती है। एशिया के बाहर कनाडा (टेस्ट नहीं खेलता) में भारत 4-1 से सीरीज जीत चुका है। 1997 में उसने पाकिस्तान को हराया था। टीम इंडिया ने कुल पांचवीं बार विदेश में द्विपक्षीय सीरीज इस अंतर से जीती है। इससे पहले श्रीलंका में 2009 और 2012 में और पाकिस्तान में 2006 में 4-1 से जीत हासिल की थी।

दो बड़ी पार्टनरशिप ने संभाली भारतीय पारी
भारत की लड़खड़ाती पारी को दो बड़ी साझेदारी ने संभाला। पहली सबसे बड़ी 98 रन की पार्टनरशिप अंबाती रायडू और विजय शंकर के बीच पांचवें विकेट के लिए हुई। शंकर के आउट होने के बाद छठवें विकेट के लिए मैच की दूसरी बड़ी साझेदारी रायडू और केदार जाधव के बीच 74 रन की हुई।

फिर फेल हुआ टीम इंडिया का टॉप ऑर्डर
इससे पहले मैच में भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने टॉस जीतकर बल्लेबाजी का फैसला किया था। टीम की शुरुआत बेहद खराब रही थी। भारत ने 18 रन पर ही अपने चार विकेट खो दिए थे। हालांकि मिडिल ऑर्डर में रायडू, शंकर, पंड्या और जाधव ने टीम का स्कोर 250 पार ले जाने में अहम भूमिका निभाई। न्यूजीलैंड की ओर से मैट हेनरी ने 4 और ट्रेंट बोल्ट ने 3 विकेट लिए। बोल्ट ने इस सीरीज में अब तक सबसे ज्यादा 12 विकेट लिए हैं।

जाधव के एक हजार रन पूरे

केदार जाधव ने मैच में 34 रन की पारी खेलते हुए अपने वनडे करियर के 1000 रन पूरे कर लिए हैं। जाधव ने वनडे करियर में अब तक 54 मैच खेलकर 1002 रन बनाए हैं। इसमें दो शतक भी शामिल हैं।

ऐसे गिरे न्यूजीलैंड टीम के विकेट
पहला विकेट, (3.3 ओवर): मोहम्मद शमी की शॉर्ट गेंद को समझ नहीं सके हेनरी निकोलस और शॉट खेलने के चक्कर में मिडविकेट पर केदार जाधव के कैच थमा बैठे। इस समय कीवी टीम 18 रन ही जोड़ सकी थी।

दूसरा विकेट, (9.1 ओवर): शमी ने एक बार फिर शॉर्ट गेंद पर कोलिन मुनरो को क्लीन बोल्ड कर दूसरी सफलता दिलाई। मुनरो इस सामान्य गेंद पर बाउंड्री लेना चाहते थे, लेकिन गेंद बल्ले का अंदरूनी किनारा लेकर स्टंप्स पर जा लगी। इस समय न्यूजीलैंड का स्कोर 37 रन था।

तीसरा विकेट, (10.2 ओवर): हार्दिक पंड्या ने इनस्विंग गेंद पर रोस टेलर को छकाते हुए एलबीडब्ल्यू आउट किया। पंड्या ने मैच में अपने पहले ओवर की दूसरी गेंद पर यह विकेट लिया। इस समय न्यूजीलैंड टीम 38 ही बना सकी थी।

चौथा विकेट, (25.4 ओवर): केदार जाधव की धीमी गेंद को केन विलियम्सन ने डीप मिडविकेट की ओर हवा में मारा। लेकिन, वे गेंद को गति नहीं दे सके और शिखर धवन के हाथों बाउंड्री पर कैच आउट हो गए। इस समय कीवी टीम ने 105 रन बना लिए थे।

पांचवां विकेट, (28.3 ओवर): युजवेंद्र चहल की अंदर आती गेंद को टॉम लाथम समझ नहीं सके और एलबीडब्ल्यू आउट हो गए। इस समय न्यूजीलैंड का स्कोर 119 रन था।

छठवां विकेट, (30.6 ओवर): चहल की सीधी गेंद को कोलिन डी ग्रांडहोम समझ नहीं सके और गेंद उनके पैर पर जा लगी। चहल ने अपील की और अंपायर ने उन्हें आउट करार दिया। इस समय कीवी टीम का स्कोर 135 रन था।

सातवां विकेट, (36.2 ओवर): केदार की स्पिन गेंद को स्वीप करने के चक्कर में जेम्स नीशम विकेट के पीछे खड़े महेंद्र सिंह धोनी के हाथों रनआउट हो गए। इस समय न्यूजीलैंड 176 रन जोड़ सकी थी।

आठवां विकेट, (40.5 ओवर): चहल ने अपना तीसरा शिकार टोड एस्टल को बनाया। गेंद सीधे एस्टल के पैड पर लगी और अंपायर ने उन्हें आउट करार दिया। टॉड ने रिव्यू लिया, लेकिन देखा गया कि गेंद बल्ले से नहीं लगी। थर्ड अंपायर ने भी टॉड को आउट ही दिया। इस समय कीवी टीम का स्कोर 194 रन था।

नौवां विकेट, (43.1 ओवर): मिशेल सैंटनर के लिए हार्दिक पंड्या ने फुलटॉस देकर एक गिफ्ट दिया था। इसे सैंटनर ने हिट किया, लेकिन वे इसे बाउंड्री पार नहीं पहुंचा सके और मोहम्मद शमी के हाथों कैच आउट हो गए। इस समय न्यूजीलैंड टीम 204 रन पर थी।

दसवां विकेट, (44.1 ओवर): अंतिम विकेट के रूप में भुवनेश्वर कुमार ने ट्रेंट बोल्ट को अपना शिकार बनाया। बोल्ट ने भुवी की गेंद पर छक्के के लिए तेज हिट किया था, लेकिन गेंद फिर शमी के हाथों में चली गई। यहां पूरी कीवी टीम 217 रन पर ऑलआउट हो गई।

ऐसे गिरे भारतीय टीम के विकेट
पहला विकेट, (4.1 ओवर) : मैट हेनरी की सीधी गेंद को रोहित शर्मा समझ नहीं सके और क्लीनबोल्ड हो गए। इस समय भारत के खाते में 8 रन ही जुड़े थे।

दूसरा विकेट, (5.5 ओवर): ट्रेंट बोल्ट ने सीरीज में चौथी बार शिखर धवन को अपना शिकार बनाया। गेंद को अपर कट मारने के चक्कर में धवन थर्डमैन पर मैट हेनरी के हाथों कैच आउट हुए। धवन शॉट को अच्छी तरह से कनेक्ट नहीं कर सके और हेनरी के लिए यह आसान कैच रहा। इस समय भारत का स्कोर 12 रन था।

तीसरा विकेट, (6.6 ओवर): मैट हेनरी की गेंद को कवर में ड्राइव करना चाह रहे थे शुभमन गिल। मिशेल सैंटनर ने उनका कैच लपक लिया। हेनरी ने अपना दूसरा विकेट लिया। शुभमन अपनी जगह पर खड़े होकर इस आउटस्विंगर को ड्राइव गए थे, जिसे वे सही से पिक नहीं कर सके। इस समय भारत के खाते में 17 रन ही जुड़े थे।

चौथा विकेट, (9.3 ओवर): महेंद्र सिंह धोनी (1) ट्रेंट बोल्ट की अंदर आती गेंद को समझ नहीं सके और क्लीनबोल्ड हो गए। बोल्ट की यह गेंद लेट इन स्विंग हुई थी, जिसे धोनी चूक गए। इस समय भारत का स्कोर 18 रन था।

पांचवां विकेट, (31.3 ओवर): विजय शंकर रनआउट हो गए। वे लॉन्गऑन पर ड्राइव कर एक रन के लिए भागे थे और रायडू के साथ हां/नहीं की गुत्थी में उलझ गए। इस दौरान कोलिन मुनरो मौका नहीं चूके और उन्हें रनआउट कर दिया। इस समय भारत का स्कोर 116 रन था।

छठवां विकेट, (43.2 ओवर): मैट हेनरी की गेंद को एक्स्ट्रा कवर पर बाउंड्री की कोशिश में अंबाती रायडू कैच आउट हो गए। कोलिन मुनरो ने आसान कैच लिया। मुश्किल समय में 90 रन की पारी खेलने वाले रायडू शतक से चूक गए। इस समय भारत का स्कोर 190 रन था।

सातवां विकेट, (45.2 ओवर): हेनरी की स्लोवर गेंद को समझ नहीं पाए केदार जाधव। डीप में एक्रोस शॉट खेलने के चक्कर में बल्ले पर गेंद लगने के बाद क्लीन बोल्ड हुए जाधव। इस समय भारत के खाते में 203 रन ही जुड़े थे।

आठवां विकेट, (48.6 ओवर): जेम्स नीशम की फुलटॉस गेंद को हिट करने की कोशिश में हार्दिक पंड्या आउट हुए। गेंद बल्ले को छूकर शॉर्ट फाइन-लेग पर खड़े ट्रेंट बोल्ट के हाथों में चली गई। इस समय भारतीय टीम ने 248 रन बना लिए थे।

नौवां विकेट, (49.4 ओवर): ट्रेंट बोल्ट की स्लोवर गेंद को एक्स्ट्रा कवर पर हिट मारने की कोशिश में भुवनेश्वर कुमार आउट हो गए। रोस टेलर ने उनका कैच लिया। इस समय भारत का स्कोर 252 रन हो चुका था।

दसवां विकेट, (49.5 ओवर): बोल्ट की गेंद पर युजवेंद्र चहल ने सीधा शॉट खेला। दूसरे छोर पर खड़े मोहम्मद शमी एक रन की लिए भागे, लेकिन गेंद बोल्ट के हाथ में आ गई। बोल्ट ने शमी को रनआउट कर दिया। इस समय भारतीय टीम 252 रन पर ऑलआउट हो गई।

स्कोरकार्ड : भारत

बल्लेबाज रन गेंद 4s 6s
रोहित शर्मा बो. हेनरी 02 16 0 0
शिखर धवन कै. हेनरी बो. बोल्ट 06 13 1 0
शुभमन गिल कै. सैंटनर बो. हेनरी 07 11 1 0
अंबाती रायडू कै. मुनरो बो. हेनरी 90 113 8 4
एमएस धोनी बो ट्रेंट बोल्ट 01 06 0 0
विजय शंकर रनआउट नीशम 45 64 4 0
केदार जाधव बो हेनरी 34 45 3 0
हार्दिक पंड्या कै. बोल्ट बो. नीशम 45 22 2 5
भुवनेश्वर कुमार कै. टेलर बो. बोल्ट 06 08 0 0
मोहम्मद शमी रनआउट बोल्ट 01 01 0 0
युजवेंद्र चहल नॉटआउट 01 00 0 0

एक्सट्रा : 15, कुल स्कोर : 252/10 (49.5ओवर)

विकेट पतन : 8/1, 12/2, 17/3, 18/4, 116/5, 190/6, 203/7, 248/8, 252/9, 252/10

गेंदबाजी : मैट हेनरी 10-1-35-4, ट्रेंट बोल्ट 9.5-2-39-3, कोलिन डी ग्रांडहोम 7-0-33-0, टोड एस्टल 5-0-35-0, जेम्स नीशम 5-0-33-1, कोलिन मुनरो 10-0-47-0, मिशेल सेंटनर 3-0-18-0

टीमें इस प्रकार हैं
भारत : रोहित शर्मा (कप्तान), शिखर धवन, शुभमन गिल, अंबाती रायडू, केदार जाधव, दिनेश कार्तिक (विकेटकीपर), हार्दिक पंड्या, कुलदीप यादव, भुवनेश्वर कुमार, युजवेंद्र चहल, खलील अहमद।

न्यूजीलैंड : केन विलियम्सन (कप्तान), मार्टिन गुप्टिल, रॉस टेलर, टॉम लाथम (विकेटकीपर), हेनरी निकोलस, जेम्स नीशम, मिशेल सैंटनर, टोड एस्टल, कोलिन डी ग्रांडहोम, मैट हेनरी, ट्रेंट बोल्ट।

WhatsApp chat