मैरीकॉम चैम्पियन बनीं तो 6 स्वर्ण जीतने वाली दुनिया की पहली महिला बॉक्सर होंगी

नई दिल्ली. एमसी मैरीकॉम ने दिल्ली में होने वाली वर्ल्ड बॉक्सिंग चैम्पियनशिप से पहले कहा कि वे अगले ओलिंपिक में भी उतरेंगी। टूर्नामेंट के मुकाबले 15 से 24 नवंबर तक दिल्ली में होंगे। पांच बार की वर्ल्ड चैम्पियन मैरीकॉम इस साल एशियन गेम्स में नहीं उतरी थीं। इसके बाद अटकलें लगाई जा रही थी कि क्या वे अगले ओलिंपिक में उतरेंगी क्योंकि तब तक वे 37 साल की हो जाएंगी। मैरीकॉम ने कहा कि वे सौ फीसदी फिट हैं और 2020 टोक्यो ओलिंपिक में भी उतरेंगी। टूर्नामेंट से पहले सभी खिलाड़ियों का फिटनेस चेक करने के लिए 100 मीटर की रेस हुई थी। वे रेस में दूसरे नंबर पर रही थीं। मैरीकॉम अगर गोल्ड जीतने में सफल रहीं तो वर्ल्ड चैम्पियनशिप में छह गोल्ड जीतने वाली दुनिया की पहली महिला बॉक्सर बन जाएंगी।

वर्ल्ड चैम्पियनशिप में आठ साल से कोई पदक नहीं जीत पाई हैं मैरीकॉम

मैरीकॉम ने हर दो साल पर होने वाले वर्ल्ड चैम्पियनशिप में अब तक पांच गोल्ड मेडल जीते हैं। मैरीकॉम और आयरलैंड की केटी टेलर ने सबसे ज्यादा पांच गोल्ड जीते हैं। केटी अब प्रोफेशनल बॉक्सर बन गई हैं। इस कारण वे टूर्नामेंट में नहीं उतर रही हैं। यदि मैरीकॉम गोल्ड मेडल जीत लेती हैं तो सबसे ज्यादा गोल्ड मेडल जीतने वाली बॉक्सर बन जाएंगी। मैरीकॉम ने तीन कैटेगरी में पांच गोल्ड जीते हैं। उन्होंने एक बार (2002) 45 किग्रा भार वर्ग में, तीन बार (2005, 2006, 2008) 46 किग्रा भार वर्ग में और एक बार (2010) 48 किग्रा भार वर्ग में स्वर्ण जीता है। दिल्ली में 2006 में हुए टूर्नामेंट में मैरीकॉम ने गोल्ड जीता था। ऐसे में वे फिर यहां इस प्रदर्शन को दोहराना चाहेंगी।

बॉक्सिंग इंडोर खेल, मौसम का फर्क नहीं पड़ेगा : मैरीकॉम
दिल्ली में एयर क्वालिटी काफी खराब है। टूर्नामेंट में शामिल हो रही खिलाड़ी माक्स पहने हुए दिखे। इस पर मैरीकॉम ने कहा कि बॉक्सिंग इंडोर गेम है। टूर्नामेंट पर इसका अधिक असर नहीं पड़ेगा। अलग-अलग मौसम के हिसाब से खिलाड़ी अपने आप को तैयार करते हैं। ऐसे में सभी को तालमेल बैठाना होता है। फिनलैंड की बॉक्सर मीरा ने कहा कि खेल पर मौसम का अधिक फर्क नहीं पड़ेगा।

WhatsApp chat