महिला टी20 विश्वकप में भारतीय टीम हारी, इंग्लैंड फाइनल में पहुंची

एंटीगा। भारतीय महिला क्रिकेट टीम टी-20 विश्व कप टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में इंग्लैंड से हार के साथ ही बाहर हो गयी है। इसी के साथ भारत का पहली बार टी20 विश्व कप के फाइनल में पहुंचने का सपना एक बार फिर टूट गया है। पिछले बार एकदिवसीय विश्व कप के खिताबी मुकाबले में भी इंग्लैंड ने ही भारत को हराया था। सर विवियन रिचर्डस स्टेडियम में शुक्रवार को खेले गए सेमीफाइनल मुकाबले में इंग्लैंड ने भारत को आठ विकेट से हरा दिया।

इस मैच में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए भारतीय टीम 19.3 ओवरों में ही 112 रन बनाकर आउट हो गयी। इसी के साथ इंग्लैंड को 113 रनों का लक्ष्य मिला। इंग्लैंड ने एमी एलेन जोन्स 53 और नटाली स्कीवर 52 के अर्धशतकों की सहायता से 17 औवर और एक गेंद में ही 116 रन बनाकर खिताबी मुकाबले में जगह बना ली। 113 रनों का लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड की टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही और सिर्फ चार के स्कोर पर ही उसकी सलामी बल्लेबाज टैमी ब्यूमोंट सिर्फ एक रन बनाकर आउट हो गईं। उसे राधा यादव की गेंद पर अरुंधति रेड्डी ने कैच किया। इसके बाद डेनियल वॉट 8 रन बनाकर दीप्ति शर्मा का शिकार बनीं। 5 ओवरों में 24 पर इंग्लैंड को दो विकेट गिर गये थे और भारत को यहां थोड़ी उम्मीद जगी थी पर विकेटकीपर जोन्स और नताली ने भारतीय गेंदबाजों को कोई मौका नहीं दिया और 92 रनों की नाबाद साझेदारी करते हुए अपनी टीम को जीत दिला दी। जोन्स ने 47 गेंदों पर तीन चौकों और एक छक्के की मदद से 53 और नताली ने 39 गेंदों पर 5 चौकों की मदद से 52 रन बनाए। अब फाइनल में इंग्लैंड का मुकाबला ऑस्ट्रेलिया से होगा। पहले सेमीफाइनल मैच में ऑस्‍ट्रेलिया ने मेजबान वेस्‍टइंडीज को 71 रनों से हराया था।

भारतीय टीम ने इससे पहले भी 2009 और 2010 में इस टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में प्रवेश किया था, पर तब वह खिताब नहीं जीत पायी थी। इस प्रकार भारतीय टीम तीसरी बार फाइनल में जगह नहीं बना पायी। वहीं दूसरी ओर इंग्लैंड ने चौथी पार फाइनल में प्रवेश किया है।
टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत ने तेज शुरुआत की। सलामी बल्लेबाज स्मृति मंधाना ने आक्रामक बल्लेबाजी करते हए 23 गेंदों में ही 34 रन बना दिये।3.4 ओवर में 89/2 रन का स्कोर था, पर इसके बाद अगले 5.5 ओवरों में भारतीय टीम ने 23 रनों के लिए ही आठ विकेट गंवा दिये गंवा दिए। केवल मंधाना 34, तानिया भाटिया 11, जेमिमा रोड्रिग्स 26, कप्तान हरमनप्रीत कौर 16 रन ही दो अंकों तक पहुंच पायी बाकि बल्लेबाज सस्ते में ही पेवेलियन लौट गयीं।

मंधाना ने 5 चौके और 1 छक्का लगाया। मंधाना को सोफी एक्केलस्टोन ने आउट किया। इसके बाद भारतीय टीम लड़खड़ा गयी और सौ रनों से पहले ही पांच खिलाड़ी पेवेलियन लौट गये। इस मैच में भारतीय टीम अनुभवी मिताली राज के बिना उतरी थी। मिताली की जगह ऑफ स्पिनर अनुजा पाटिल को शामिल किया गया था।

(राष्ट्रीय संभव सन्देश के व्हाट्सएप ग्रुप में ऐड होने के लिए Click यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम, और यूट्यूब पर फ़ाॅलो भी कर सकते हैं.)

WhatsApp chat