अमेरिका के बाद हुआवेई को Google का बड़ा झटका, कैंसल किया एंड्रायड लाइसेंस

नई दिल्ली : Huawei Android License Cancelled, अमेरिका की तरफ से चीन की दिग्गज तकनीक कंपनी हुआवेई (Huawei) को ब्लैकलिस्ट किए जाने के बाद गूगल ने भी हुआवेई के खिलाफ कठोर कदम उठाया है. गूगल (Google) ने कंपनी के साथ अपने बिजनेस को सस्पेंड करते हुए हुआवेई के लिए जारी किया गया एंड्रायड लाइसेंस कैंसल कर दिया है. इस कदम के बाद गूगल हुआवेई को अपने हार्डवेयर, सॉफ्टवेयर और तकनीकी सर्विस नहीं देगा. यानी अब गूगल से हुआवेई को एंड्रायड अपडेट भी नहीं मिलेगा. इसके अलावा अमेरिका ने चाइनीज कंपनी हुआवेई को दुनियाभर में ब्लैकलिस्ट किए जाने की मांग की है.

चीन और अमेरिका के बीच तनाव बढ़ने की आशंका
गूगल की तरफ से हुआवेई के खिलाफ कठोर कदम उठाए जाने के बाद चीन और अमेरिका के बीच चल रहे ट्रेड वार के बाद दोनों देशों में तनाव और बढ़ सकता है. इस सबसे बीच सबसे बढ़ा सवाल यह है कि ऐसे में हुआवेई यूजर्स का क्या होगा, जब गूगल ने उसका एंड्रायड लाइसेंस कैंसल कर दिया है. हुआवेई स्मार्टफोन यूजर्स को अब उनके फोन पर एंड्रायड का अपडेट नहीं मिलेगा. ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट के अनुसार इंटेल, क्वॉलकॉम जैसी चिप बनाने वाली कंपनियों ने भी हुआवेई के साथ अपना कारोबार सस्पेंड कर दिया है. गूगल के इस कठोर कदम के बाद चीन के बाहर हुआवेई के स्मार्टफोन कारोबार पर सीधा असर पड़ेगा.

अमेरिका के कल-पुर्जों पर निर्भरता में कम करेगी हुआवेई
गूगल की तरफ से हुआवेई का एंड्रायड लाइसेंस कैंसल करने से पहले ही Huawei के फाउंडर ने कहा था कि उनकी कंपनी अमेरिका की तरफ से उठाए गए कदमों से निपटने के लिए तैयार है. साथ ही उन्होंने कहा कि हुआवेई अमेरिका के कल-पुर्जों पर अपनी निर्भरता में कमी लाएगी. आपको बता दें अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने गत सप्ताह ही हुआवेई को प्रभावी रूप से अमेरिकी बाजार से प्रतिबंधित कर दिया था. हुआवेई के फाउंडर और सीईओ रेन जेंगफे ने शनिवार को जापानी पत्रकारों के साथ इंटरव्यू में कहा, ‘हम पहले से इसकी तैयारियों में जुटे हैं.’

अपने कल-पुर्जों का विकास जारी रखेंगी हुआवेई
रेन ने कहा हुआवेई अपने कल-पुर्जों का विकास जारी रखेगी ताकि बाहर के आपूर्तिकर्ताओं पर उसकी निर्भरता कम हो सके. हुआवेई 5G तकनीक में अगुआ कंपनियों में शामिल है लेकिन अब भी बहुत से कल-पुर्जों के लिए विदेशी आपूर्तिकर्ताओं पर निर्भर है. निक्की बिजनेस डेली के मुातबिक कंपनी हर साल करीब 67 अरब डॉलर के कल-पुर्जे खरीदती है. इनमें से करीब 11 अरब डॉलर की आपूर्ति उसे अमेरिकी कंपनियों की ओर से किया जाता है.

WhatsApp chat